कंप्यूटर के सीमाए एव अनुप्रयोग ||Computer boundaries and applications

कंप्यूटर के सीमाए एव अनुप्रयोग ||Computer boundaries and applications

कम्प्यूटर के सीमाएंः-

(1) बुद्धिहीन-

  • कम्प्यूटर स्वंम निर्णय नहीं ले सकता ।
  • कम्प्यूटर में सोचने की क्षमता नहीं होता है।
  • कम्प्यूटर एक मशीन होता है जो केवल दिये गये दिशा-निर्देशों का पालन करता है।


(2) खर्चीलाः-

  • कम्प्यूटर के हार्डवेयर एवं साॅफ्टवेयर काफी मंहगे होते तथा यह खर्चीला वस्तु है। तथा इन्हें समय ≤ पर चेन्ज भी करना पड़ता है।

(3) वायरस का खतराः-

  • कम्प्यूटर में वायरस का खतरा हर समय बना रहता है जो सुचना और निर्देशों को दुषित करता या समाप्त कर देता है।
  • ये वायरस कम्प्यूटर की भंडारण क्षमता को प्रभावित करता है।
  • कम्प्यूटर में एंटीवायरस साॅफ्टवेयर से बचा जा सकता है।

(4) विद्युत पर निर्भरः-

  • कम्प्यूटर को चलाने के लिए विद्युत की आवश्यकता होता है यह विद्युत पर निर्भर रहता है।
  • कम्प्यूटर पर  बिना बिजली के कोई भी काम कर पाना नामुकीन है।

कम्प्यूटर के अनुप्रयोगः-

  • कम्प्यूटर का प्रयोग अब सभी कामों किया जा रहा है। वर्तमान समय में शायद ही ऐसा क्षेत्र बचा हो जो कम्प्यूटर से नहीं किया जा रहा है। कम्प्यूटर का प्रयोग किन-किन क्षेत्र में किया जा रहा है आइये देखते हैः-

(1) डाटा प्रोसेसिंग के क्षेत्र मेंः-

  • बड़े और विशाल सांख्यिकीय डाटा से सूचना तैयार करने में कम्प्यूटर का युज किया जा रहा है।
  • कम्प्यूटर का प्रयोग जनगणना के क्षेत्र में भी किया जा रहा है।
  • कम्प्यूटर का प्रयोग सांख्यिकीय विश्लेषण के क्षेत्र में हो रहा है।
  • तथा इसका प्रयोग विभीन्न प्रतियोगी परिक्षाओं या 10वीं 12वीं के परिक्षाओं के परिणाम देखने के लिए भी इसका प्रयोग किया जा रहा है।

le="text-align: left;"> (2) सूचनाओं का आदान-प्रदान करने मेंः’
  • कम्प्यूटर का प्रयोग भंडारण की विभीन्न पद्धतियों  के विकास और कम स्थान घेरने के कारण सुचनाओं का आदान-प्रदान के बेहतर माध्यम साबित हो रहे है।
  • इंटरनेट के विकास ने तो कम्प्यूटर को सूचना का राजमार्ग बना दिया है।
  • कम्प्यूटर के बिना इंटरनेट का लाभ नहीं लिया जा सकता है।

(3)शिक्षा के क्षेत्र मेंः-

  • मल्टीमिडीया का विकास और कम्प्यूटर आधारित शिक्षा ने तेा विद्यार्थियों के लिए बहुत की उपयोगी बना दिया है।
  • डिजीटल लाइब्रेरी ने पुस्तकों की सर्वसुलभता सुनिश्चित की है
  • अब तो युट्यूब के माध्यम से शिक्षा के क्षेत्र में अग्रिम विकास की है।

(4) वैज्ञानिक अनुसंधानः-

  • विज्ञान के अनेक जटिल समस्याओें को सुलझाने के लिए कम्प्यूटर की सहायता ली जा रही है।
  • कम्प्यूटर में परिस्थतियों का उचित आकलन भी संभव हो पाया है।
  • आज कल वैज्ञानिक कम्प्यूटर के माध्यम से ही बड़ी से बड़ी कामयाबी प्राप्त करने सफलता पायी है।

(5) रेलवे और वायुयान आरक्षणः-

  • आज कल कम्प्यूटर की सहायता से किसी भी स्थान से अन्य स्थानों के रेलवे और वायुयान क टिकट किये जा सकते है। तथा इसकी गलती की संभावना भी बहुत कम होती है।

(6) बैंक के क्षेत्र मेंः-

  • कम्प्यूटर का अनुप्रयोग बैंकिग के क्षेत्र में क्रांति ला दी है।
  • एटीएम और आॅनलाइन बैंकिग ,चेक भुगतान, इ.सी.एस ,रूपया गिनना तथा पासबुक इंट्री में कम्प्यूटर का प्रयोग किया जा रहा है।
  • बैंकिग के हर कार्य अब कम्प्यूटर के माध्यम से हो रहा है।

(7) चिकित्साः-

  • चिकित्सा के क्षेत्र में शरीर के आंदर के रागों का पता लगाने ,उसका विश्लेषण करने और उसका निदान करने मे कम्प्यूटर का बड़ा रोल है।
  • सीटी स्कैन, अल्ट्रासाउंड,एक्स-रे तथा विभिन्न जाँच में कम्प्यूटर का प्रयोग किया जाता है।
  • अब तो चिकित्सा के हर क्षेत्र में कम्प्यूटर का प्रयोग किया जा रहा है।

(8) रक्षा:-

  • रक्षा अनुसंधान ,वायुयान नियंत्रण मिसाइल, रडार आदि के क्षेत्र में कम्प्यूटर का प्रयोग किया जा रहा है।

(9) अंतरिक्ष प्रौद्योगिकीः-

  • कम्प्यूटर के तीव्र कार्य करने के कारण ही तथा तीव्र गणन क्षमता के कारण ही  ग्रहों उपग्रहों और अंतरिक्ष की घटनाओं का सूक्ष्म अध्ययन किया जा सकता है।
  • कृत्रिम उपग्रहों में भी कम्प्यूटर का प्रयोग किया जा रहा है।

(10) संचार के क्षेत्र में:-

  • संचार के क्षेत्र में कम्प्यूटर का प्रयोग किया जा रहा है।
  • आधुनिक संचार व्यवस्था में कम्प्यूटर के प्रयोग से बेहतर गुणवत्ता वाले वस्तुओं का उत्पादन संभव हा पाया है।

(11) उद्योग व व्यवसाय के क्षेत्र मेंः-

  • कम्प्यूटर का प्रयोग उद्योगों में बेहतर गुणवत्ता वाले वस्तुओं का उत्पादन संभव हो पाया है।
  • व्यापार में कार्याें और स्टाक का लेखा-जोखा रखने में कम्प्यूटर महत्वपुर्ण भुमिका निभा रहा है।
  • उद्योग या व्यापार के क्षेत्र में ग्राहक से लेनदेन ,ऋण की हिसाब किताब तथा वस्तुओं की लेखा- जोखा भी कम्प्यूटर के माध्यम से किया जा रहा है।


(12) मनोरंजन के क्षेत्र मेंः-

  • मनोरंजन के क्षेत्र में जैसे सिनेमा, टेलीविजन के कार्यक्रम ,वीडियो गेम में कम्प्यूटर का उपयोग कर प्रभावी मनेारंजन प्रस्तुत किया जा रहा है।
  • मल्टीमिडीया के प्रयोग ने कम्प्यूटर को उत्तम साधन बना दिया है।

(13) प्रकाशन के क्षेत्र मेंः-

  • प्रकाशन और छपाई के क्षेत्र में कम्प्यूटर का प्रयोग इसे सुविधजनक तथा आकर्षक बना दिया है।
  • रेखाचित्र और ग्राफ का निर्माण अब सुविधाजनक हो गया है। कम्प्यूटर के माघ्यम से ।

(14) प्रशासन के क्षेत्र मेंः-

  • कम्प्यूटर का प्रयोग प्रशासन में पारदर्शिता लाने ,सरकार के कार्यों को जनता तक पहुचाने तथा और भी प्रशासनिक कार्येंा को कम्प्यूटर का प्रयोग किया जा रहा है।
  • अब ई-प्रशासन का उपयोग कम्प्यूटर के माध्यम से ही संभव हो पाया है।

(15) डिजीटल पुस्तकालयः-

  • पुस्तकों को अंकिय स्वरूप प्राप्त प्रदान कर उन पुस्तकेां को अत्यन्त कम स्थान में अधिक समय के लिए सुरक्षित रखा जा सकता है। इसे इंटरनेट से जोड़ देने पर किसी भी स्थान से पुस्तकालय में संग्रहित सुचना को प्राप्त किया जा सकता है।
        आज डिजीटल जबाना हो गया है हर किसी के पास इंटरनेट की सुविधा है अब हर व्यक्ति इंटरनेट
से परिचित हो गया है।


कंप्यूटर के सीमाए एव अनुप्रयोग ||Computer boundaries and applications
computer basics gk

कम्प्यूटर के अनुप्रयोग के प्रभावः-

(1) समय की बचतः-

  • कम्प्यूटर के काम करने की गति बहूत ही तेज होती है अतः मनुष्य द्वारा एक साल में पुरा किये जाने वाले कामों को कुछ     की मिनटों में कम्प्यूटर के द्वारा किया जा सकता है।

(2) त्रुटि रहितः-

  • कम्प्यूटर के प्रयोग से कार्य में त्रुटि की संभावना एकदम नगण्य के बराबर होती है।
  • जो त्रुटी होती भी है वह गलत डाटा य गलत प्रोग्राम का परिणाम है तथा जिसे पहचान कर सही किया जा सकता है।

(3) कार्य की गुणवत्ताः-

  • चूँकि कम्प्यूटर हर बार समान गुणवक्ता से काम करता है।
  • कम्प्यूटर बार-बार एक ही कार्य को करने के पश्चात भी उत्पाद की गुणवत्ता पर  कोई असर या प्रभाव नहीं होता है।

(4) कागज की बचतः-

  • डाटा संग्रहण के इलेक्ट्रानिक विधियों के उपयोग और उनकी विशाल भंडारण क्षमता के कारण कम्प्यूटर के प्रयोग से कागज की बचत संभव हो पाती  है।

(5) बेरोजगारीः-

  • बेरोजगारी कम्प्यूटर के विस्तृत अनुप्रयोग का एक नाकारात्मक प्रभाव है। एक कम्प्यूटर द्वारा सैकड़ों लोगों का काम किया जा सकता है, तथा लोगों की जीविका पर प्रभाव पड़ता है। तथा दुसरी तरफ कम्प्यूटर से संबंधित रोजगार के की सृजन भी किया जा सकता है।


Post a Comment

0 Comments